Aparna Yadav Education: कितनी पढ़ी लिखी है मुलायम सिंह की बहु अपर्णा यादव, BJP में हुई शामिल

Sharing Is Caring:

साथियों आज के इस आर्टिकल में हम जानने वाले है की मुलायम सिंह की छोटी बहु अपर्णा यादव कितनी पढ़ी लिखी है जैसा की आप सभी को पता चल ही गया होगा की अभी हाल में ही अपर्णा यादव BJP पार्टी में सामिल हुई है वैसे तो पोलटिक में कुछ भी जयाज है पर आज हम पोलटिक के बारे में नहीं हम बात करने वाले है Aparna Yadav जी के पढाई के बारे में की वो कितनी पढ़ी लिखी है तो चलिए हम देख लेते है.

Aparna Yadav Education

Aparna Yadav Joins BJP: साथियों जैसा की हम सभी को पता है की मुलायम सिंह यादव की पुत्रवधू अपर्णा यादव (Aparna Yadav) ने समाजवादी पार्टी (​​Samajwadi Party) छोड़कर BJP का दामन थाम लिया है. साथियों अगर हम इनकी पढ़ाई की बात करें तो अपर्णा ने ब्रिटेन की मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी (Manchester University) से इंटरनेशनल रिलेशनशिप एंड पॉलिटिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट (Post – Graduate in International Relations and Politics) किया है. साथियों वही अपर्णा यदाव संगीत की ठुमरी कला में भी निपुण हैं. माना जा रहा है कि लखनऊ कैंट से टिकट ना मिलने से वह सपा मुखिया अखिलेश यादव से नाराज थी. इसीलिए उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का दामन थामा है.

अपर्णा यादव ठुमरी कला में निपुणता हासिल है

साथियों आपको बता दें की अपर्णा लखनऊ के लोरेटो कॉन्वेंट इंटरमीडिएट कॉलेज में पढ़ी है. साल 2007 में उनकी स्कूली शिक्षा पूरी हुई, जिसके बाद लखनऊ यूनिवर्स‍िटी से अपर्णा ने राजनीति विज्ञान, आधुनिक इतिहास और अंग्रेजी में ग्रेजुएशन किया. बाद में ब्रिटेन की मैनचेस्टर यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल रिलेशनशिप एंड पॉलिटिक्स में पोस्ट ग्रेजुएट अपर्णा ने भातखंडे संगीत विश्वविद्यालय (Bhatkhande Music Institute) से ठुमरी कला में निपुणता हासिल की है. उन्होंने समाजवादी पार्टी के लिए एक खास गीत भी तैयार किया था. मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता के पुत्र प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा परिवार के आपसी झगड़ों से अलग-थलग ही रहीं.

अपर्णा यादव ने भाजपा का दामन थामा

अपर्णा यादव का भाजपा का दामन थाम लेना काफी चौंकाने वाला कदम है. हालांकि वह लंबे समय से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कामकाज और पार्टी की नीतियों की तारीफ कर रही थीं. अपर्णा  के पास भले ही कोई जनाधार ना हो लेकिन बीजेपी उन्हें पार्टी में शामिल कर सियासी संदेश देने में जरूर कामयाब रही है. समाजवादी पार्टी परिवार में पहले से ही चली आ रही फूट अभी भी थमने का नाम नहीं ले रही है. पहले चाचा शिवपाल ने अपनी पार्टी बनाई थी जैसे-तैसे उन्हें मनाया गया तो आप परिवार की बहू ने बगावत कर भाजपा (BJP) का दामन थाम लिया है.

अपर्णा  ने पांच साल में परिवार के झगड़े न सुलझते देख अलग ही राह पकड़ ली. राजनीतिक रूप से महत्वकांक्षी अपर्णा यादव ने वर्ष 2017 में लखनऊ की कैंट (Lucknow Cantt) विधानसभा सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ा था लेकिन जीत ना सकी उसके बाद समाजवादी पार्टी से उन्हें अपेक्षित तवज्जो नहीं मिली. वह चाहती थी कि पार्टी में वह सक्रिय भूमिका निभाएं. लेकिन ऐसा नहीं हुआ और उन्होंने समाजवादी पार्टी छोड़ दी. बुधवार को उन्होंने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया उन्होंने भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य आदि नेताओं की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली. अपर्णा  के पिता अरविंद सिंह बिष्ट हैं. उनकी मां का नाम अंबी बिष्ट है. चुनावी हलफनामे के मुताबिक उन पर किसी तरह का कोई अपराध भी दर्ज नहीं है.

Leave a Comment

error: Content is protected !!