मछली पालन योजना बिहार 2022 ऑनलाइन आवेदन Online Registration Form

Sharing Is Caring:

हेलो दोस्तों आज हम लोग बात करने वाले हैं मछली पालन योजना बिहार के बारे में आपको ये जानकर हैरानी होगी कि इसमें 90 प्रतिशत अनुदान है । बिहार के मछली पलकों को सरकार ने दी सौगात, तलाब और हैचरी के लिए 90 प्रतिशत सब्सिडी, गाड़ी और आइस के लिए भी मिलेगा पैसा मछली पालको की आय में बढ़ोतरी करने और इस व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए बिहार की नीतीश कुमार सरकार लगातार प्रयास कर रही है इसी के तहत राज्य के मछली पालकों को एक और सौगात देने की घोषणा है । बिहार में अब मछली पालन के नए तालाब के निर्माण पर राज्य सरकार की तरफ से 90 प्रतिशत तक सब्सिडी मिलेगी । साथ ही मछली बेचने के लिए गाड़ी और आइस बॉक्स खरीदने पर भी अनुदान का प्रावधान है । 

किसानों की आय दोगुना करने के लिए पारंपरिक खेती की जगह वैज्ञानित तरीके और नकदी फसलों की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है, इसके अलावा खेती के साथ ही मछली पालन, मुर्गी पालन, पशु पालन जैसे अन्य पेशो को अपनाने के लिए किसानों को सरकारें प्रोत्साहित कर रही है । इसी सिलसिले में बिहार सरकार ने फैसला लिया है ।

* तलाब और हैचरी के लिए 90 प्रतिशत सब्सिडी.

* गाड़ी और आइस के लिए भी मिलेगा पैसा.

* इस योजना से मछली पालको की आय में बढ़ोतरी होगी.

* मछली पालन के नए तालाब के निर्माण पर राज्य सरकार की तरफ से 90 प्रतिशत तक सब्सिडी मिलेगी.

* मछली बेचने के लिए गाड़ी और आइस बॉक्स खरीदने पर भी अनुदान का प्रावधान है.

* खेती के साथ ही मछली पालन, मुर्गी पालन, पशु पालन जैसे अन्य पेशो को अपनाने के लिए किसानों को सरकारें प्रोत्साहित कर रही है.

 

योजना – मछली पालन योजना बिहार 2021

अपडेट – 2021

लोकेशन – बिहार

 

मछली पालन योजना बिहार 2021 ऑनलाइन आवेदन Online Registration Form

इस वित्त वर्ष योजना के लिए 17 करोड़ की राशि स्वीकृत।

 

बिहार सरकार मछली पालकों को नया तालाब और हैचरी निर्माण करने पर 90 प्रतिशत अनुदान देगी । इससे राज्य में मछली का उत्पादन बढ़ेगा और किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी और समृद्धि का जीवन जी सकेंगे ।

सरकार सिर्फ मछली पालने का इंतेजाम सरकार नही कर रही है । बल्कि उसे बेचने के लिए व्यवस्था बना रही है इसी के तहत मछली को बाजार तक पहुंचाने के लिए गाड़ी और आइस बॉक्स खरीदने पर भी अनुदान दिया जाएगा । फिलहाल इस योजना का लाभ राज्य के अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के मछली पालको को ही मिलेगा । यानी यह योजना अभी सिर्फ SC और ST के लिए ही है इसमे आगे चलकर हो सकता है कि सारे जाती के लोगो लाभ मिले लेकिन अभी ये योजना फिरहाल अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाती के लिए है ।

* नया तालाब और हैचरी निर्माण करने पर 90 प्रतिशत अनुदान देगी.

* इससे राज्य में मछली का उत्पादन बढ़ेगा.

* किसानों की आय में बढ़ोतरी होगी.

* मछली को बाजार तक पहुंचाने के लिए गाड़ी और आइस बॉक्स खरीदने पर भी अनुदान दिया जाएगा.

* योजना अभी सिर्फ SC और ST के लिए ही है.

* आगे चलकर हो सकता है कि सारे जाती के लोगो लाभ मिले.

* अभी ये योजना फिरहाल अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाती के लिए है.

 

इस काम के लिए राज्य सरकार से वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 17 करोड़ की राशि को स्वीकृति भी मिल गई है । पशु एवं मत्सय संसाधन विभाग के मुताबिक, इस योजना के तहत निजी जमीन पर बनाये गए तालाब के लिए भी सब्सिडी की व्यवस्था की गई है । वहीं पट्टे की जमीन पर 9 साल के कॉन्ट्रैक्ट वाली योजना में सब्सिडी का लाभ मिलेगा । यानी ये योजना अगर आप कम से कम 9 साल के लिए कॉन्ट्रैक्ट बनवाते हैं तब आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं या फिर आपका अपना जमीन है तो आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं । लेकिन आपको कम से कम 9 साल इस बिज़नेस को चलाना होगा । राज्य सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, सब्सिडी के पैसे एक साथ नही, बल्कि फेजवाइज दिए जाएंगे । 

* राज्य सरकार से वित्त वर्ष 2021-22 के लिए 17 करोड़ की राशि को स्वीकृति भी मिली है.

* निजी जमीन पर बनाये गए तालाब के लिए भी सब्सिडी की व्यवस्था की गई है.

* आपको कम से कम 9 साल इस बिज़नेस को चलाना होगा.

* राज्य सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, सब्सिडी के पैसे एक साथ नही, बल्कि फेजवाइज दिए जाएंगे.

 

मछली पालन योजना बिहार 2021 की पत्रता क्या है ?

 

इस योजना में निजी, सरकारी जलकर, तालाब में मत्स्य पालन करने वाले मत्स्य कृषक, मछुआ, मत्स्यपालक, मात्स्यिकी विकास के विभिन्न अवयव योजनाओं के लाभुक, आवेदक, मात्स्यिकी से जुड़े हुए व्यवसायी प्रखण्डस्तरीय मत्स्यजीवी सहयोग समिति के सक्रिय सदस्य ।

 

गाड़ी खरीदने पर मिलेगी 4.8 लाख रुपये तक मिलेगी सब्सिडी ।

योजना के तहत मछली उत्पादकों को सुरक्षित और सही समय पर मछली को बाजार तक पहुंचने के लिए भी व्यवस्था की गई है । छोटे मछली पलकों को मोपेड गाड़ी के लिए अनुदान दिया जायेगा । वहीं बड़े मछली पलकों को तीन पहिया और चार पहिया गाड़ी पर सब्सिडी मिलेगी । 

मछली उत्पदकों को गाड़ियों की कीमत के हिसाब से अनुदान दिया जाएगा । योजना में फिरहाल मोपेड की खरीद पर 50 हजार, तीन पहिया वाहन के लिए 2.8 लाख और चार पहिया के लिए 4.8 लाख रुपये की सब्सिडी का प्रावधान है 

* मछली को बाजार तक सुरक्षित और सही समय पर पहुंचने के लिए भी व्यवस्था की गई है.

* छोटे मछली पलकों को मोपेड गाड़ी के लिए अनुदान दिया जायेगा.

* वहीं बड़े मछली पलकों को तीन पहिया और चार पहिया गाड़ी पर सब्सिडी मिलेगी.

* मछली उत्पदकों को गाड़ियों की कीमत के हिसाब से अनुदान दिया जाएगा.

* योजना में फिरहाल मोपेड की खरीद पर 50 हजार रुपये की सब्सिडी.

* तीन पहिया वाहन के लिए 2.8 लाख रुपये की सब्सिडी.

* चार पहिया के लिए 4.8 लाख रुपये की सब्सिडी.

 

मछली पालन योजना बिहार 2021 आवेदन करने के लिए लगने वाला दस्तावेज ?

 

उन्नत मत्स्य बीज उत्पादन योजना के आवेदन लिए लगने वाला दस्तावेज इसमे आपको आधार कार्ड, मछली पालन का प्रशिक्षण प्रमाण पत्र, सपथ पत्र, बैंक खाता संख्या, पासपोर्ट साइज फ़ोटो और जिस जमीन पर तालाब बनाया जा रहा है उस जमीन का मालिकाना प्रमाण पत्र

दस्तावेज.

* आधार कार्ड

* मछली पालन का प्रशिक्षण प्रमाण पत्र

* सपथ पत्र

* बैंक खाता संख्या

* पासपोर्ट साइज फोटो

* जिस जमीन पर तालाब बनाया जा रहा है उस जमीन का मालिकाना प्रमाण पत्र

2 thoughts on “मछली पालन योजना बिहार 2022 ऑनलाइन आवेदन Online Registration Form”

Leave a Comment

error: Content is protected !!