इस योजना के ज़रिये आदिवासी समाज को मिलेगा रोजगार, जानिए पूरा विवरण । PM Van Dhan Yojana 2022

Sharing Is Caring:

हैलो दोस्तों आज हम आप लोगों को प्रधानमंत्री वन धन योजना के बारे में बताने वाले हैं अगर आप इस योजना के तहत लाभ उठाना चाहते हैं और आप जानना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री वन धन योजना क्या है और इस योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है। प्रधानमंत्री वन धन योजना के ज़रिए आदिवासी को क्या लाभ मिलेगा और इस योजना के आवेदन हेतु क्या क्या मुख्य दस्तावेज लगेंगे और अगर आप इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आवेदन कैसे करें, यह सारी जानकारी हम आप लोगों को देंगे तो चलिए अब जान लेते हैं।

प्रधानमंत्री वन धन योजना क्या है ?

दोस्तों, जैसा की आप लोगों को पता है कि हमारे देश में रोजगार की कितनी कमी है। देश में आज भी अधिक मात्रा में आदिवासी लोग पाए जाते है। उन्हें इस के माध्यम से लाभ मिल सके इस उदेश्य से सरकार अधिक मात्रा में कार्यरत बनी हुई है। वर्तमान सरकार के द्वारा इस और अधिक से अधिक कदम उठाये गए है जिसके माध्यम से उन्हें फायदा देने की बात एवं उन्हें लाभ के साधन देने का काम सरकार के द्वारा किया जा रहा है। इस योजना के द्वारा सरकार सभी आदिवासी लोगो को वन्य सामान एकत्र करने पर उन्हें वित्त की सहायता भी देगी और उन से यह सामान एक अच्छी कीमत पर कार्य करने का काम भी करेगी। इस योजना को केंद्र सरकार के द्वारा 14 अप्रेल 2018 को अपने अस्तित्व में लायी गयी। आदिवासी विकास का रस्ता इख्तियार कर ले इस के लिए इस योजना में उन्हें विशेष प्रावधान देने की बात कही है। देश के वे स्थान जहा पर आदिवासी निवास करते है वहां पर उन्हें कम आय में जीवन यापन करना पड़ता है। इस के उदेश्य से सरकार ने सभी को लाभ देने के लिए उन्हें यह सामान अच्छे से एकत्र करने के उदेश्य से एवं उन्हें अच्छे साधन के रूप में लाभ देने के उदेश्य से सरकार ने अधिक मात्रा में आर्थिक लाभ देने की बात कही है। सरकार ने उन्हें वन्य सामान जिसमे मुख्य रूप से कलोंजी एवं कन्द मूल, औषधि, बेल पत्ता ताम्र पत्ता अन्य सामग्री जिस के माध्यम से देश को लाभ होता है। इस योजना के माध्यम से इन्हे फायदा मिले इस के लिए सरकार उन्हें प्रशिक्षण देगी और धन का प्रावधान भी करेगी।

इस योजना के ज़रिये आदिवासी समाज को मिलेगा रोजगार

प्रधानमंत्री वन धन योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

इस योजना का मुख्य उद्देश्य यह है कि इस के संचालन मुख्य रूप से जनजातीय समूह एवं वन धन योजना केंद्र के द्वारा उन्हें सहायता समूह का निर्माण किया जायेगा जिसके द्वारा उन्हें लगभग 10 आदिवासी सहायता समूह का निर्माण करके वे स्वयं सहायता करेंगे। इस योजना के द्वारा 300 लोगो की सहायता समूह बनाया जायेगा जिसके अंदर कई ग्रुप का निर्माण भी किया जायेगा। सभी को ट्रेनिंग देने का काम भी इस के तहत किया जायेगा। बाजार की कीमतों में हमेशा उतार चढ़ाव देखा गया है। इसके द्वारा उन्हें लाभ मिले इस के लिए मुआवजा देने का काम भी सरकार के द्वारा किया जायेगा।

प्रधानमंत्री वन धन योजना के ज़रिए आदिवासी को क्या लाभ मिलेगा ?

प्रधानमंत्री वन धन योजना के ज़रिए आदिवासी को मिलने वाला लाभ यह है कि आदिवासी बेहतर कुशलता के अवसर ले सकेंगे। उन्हें अच्छे से अच्छा प्रशिक्षण देने का काम भी किया जा सकेगा। आदिवासी के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा। उन्हें अपनी आय में भी वृद्धि के अवसर मिल सकेंगे। वन धन योजना के तहत आदिवासी को बेहतर रूप से खनिज साधन एवं कंद मूल, ओषधि, ताम्र पत्ता, मुलेठी एवं अन्य के प्रकार के सामान जो वनो में मिलते हैं वह उन्हें अच्छे मिल सकेंगे एवं वे समग्र विश्व पटल पर आ सकेंगे।

* आदिवासी बेहतर कुशलता के अवसर ले सकेंगे।
* उन्हें अच्छे से अच्छा प्रशिक्षण देने का काम भी किया जा सकेगा।
* आदिवासी के जीवन स्तर में भी सुधार आएगा।
* उन्हें अपनी आय में भी वृद्धि के अवसर मिल सकेंगे।
* वन धन योजना के तहत आदिवासी को बेहतर रूप से खनिज साधन एवं कंद मूल, ओषधि, ताम्र पत्ता, मुलेठी एवं अन्य के प्रकार के सामान जो वनो में मिलते हैं वह उन्हें अच्छे मिल सकेंगे एवं वे समग्र विश्व पटल पर आ सकेंगे।

इस योजना के आवेदन हेतु क्या क्या मुख्य दस्तावेज लगेंगे ?

इस योजना के आवेदन हेतु लगने वाले मुख्य दस्तावेज यह हैं जैसे आधार कार्ड, राशन कार्ड, दो पासपोर्ट साइज फोटो।

* आधार कार्ड।
* राशन कार्ड।
* दो पासपोर्ट साइज फोटो।

प्रधानमंत्री वन धन योजना के लिए आवेदन कैसे करें ?

इस योजना का आवेदन करने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते है। वहां आपको सभी जानकारी देखने को मिल जाएगी। इस के लिए अप्लाई भी आप अच्छे से कर सकते है। जिसके माध्यम से लाभ भी मिल सकेगा।

2 thoughts on “इस योजना के ज़रिये आदिवासी समाज को मिलेगा रोजगार, जानिए पूरा विवरण । PM Van Dhan Yojana 2022”

  1. Mera naam Manish Kumar hai main Sanam Bhatti gaon ka Rahane wala hun Bihar mein rahata hun hamara mummy yah papa nahin hai hamara sadasya chacha ek chachi hai unka do ladka hai Bus yahi hai Parivar mein Samastipur Bihar mein rahata hun

    Reply
    • Mahesh Samastipur Bihar ka Rahane wala hun mera mummy papa hai nahin Papa ka naam Ramanand Sharma hai mummy ka naam Sunita Devi hai aur mera naam Manish Kumar hi Mera gaon Salaam karti hai post murder thana khanpur hi Abhi Ludhiana mein rah raha hun hun Mera koi Ghar nahin hai mele mein kam karta hun

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!