UP Kanya Sumangala Yojana: आपकी भी बेटी को मिलेंगे 15000 रूपये, हर महीने इस तरह से करें आवेदन

Sharing Is Caring:

UP Kanya Sumangala Yojana: आपकी भी बेटी को मिलेंगे 15000 रूपये, हर महीने इस तरह से करें आवेदन

उत्तर प्रदेश के लोगों को राहत देने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा आधिकारिक UP MKSY पोर्टल लॉन्च किया गया था। राज्य की बेटियां mksy.up.gov.in पोर्टल के माध्यम से आसानी से पंजीकरण करा सकती हैं। मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (MKSY Kanya Sumangala Yojana mksy.up.nic.in )का आधिकारिक पोर्टल राज्य के नागरिकों को ऑनलाइन आवेदन करने की सुविधा प्रदान करता है।

हम इस कन्या सुमंगला योजना से जुड़ी सभी जानकारी लेख के माध्यम से उपलब्ध कराने जा रहे हैं, इसलिए कृपया लेख को ध्यान से पढ़ें। कन्या सुमंगला योजना के तहत राज्य में किसी भी परिवार में बेटी के जन्म से लेकर स्नातक/डिप्लोमा/डिग्री तक की पढ़ाई का सारा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। इस कन्या सुमंगला योजना 2021 के तहत बेटियों को जन्म से लेकर पढ़ाई तक की कुल 15000 रुपये की राशि सरकार की ओर से आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी।

उत्तर प्रदेश में जन्मी बेटियों के लिए मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना शुरू की गई है। इस योजना के तहत सरकार तीन लाख से कम वार्षिक आय वाले परिवारों को बेटियों के जन्म और शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने संयुक्त रूप से इस योजना का शुभारंभ किया

 

कन्या सुमंगला योजना हर उस परिवार को 15000 रुपये का फंड प्रदान करेगी जहां एक लड़की का जन्म होता है। परिवार को यह राशि चरणबद्ध तरीके से जारी की जाएगी। योजना के तहत धनराशि विभिन्न किश्तों में जारी की जाएगी जब बालिका विभिन्न श्रेणी जैसे जन्म के समय, टीकाकरण, कक्षा 1, 5, 9 में प्रवेश और स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी कर लेती है।

सभी उम्मीदवार जो ऑनलाइन आवेदन करने के इच्छुक हैं, फिर MukhyaMantri Kanya Sumangala Yojana (MKSY) आधिकारिक अधिसूचना डाउनलोड करें और सभी पात्रता मानदंड और आवेदन प्रक्रिया को ध्यान से पढ़ें।

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana (MKSY)

योजना मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना (Mukhya Mantri Kanya Sumangla Yojana)
विभाग महिला एवं बाल विकास विभाग
शुरू किया गया यूपी की राज्य सरकार द्वारा
लाभार्थी बालिका
लाभ बालिका और उसके परिवार को वित्तीय सहायता प्रदान करता है
उद्देश्य बालिकाओं की सुरक्षा और सुरक्षा, स्वास्थ्य और शिक्षा
केटेगरी उत्तर प्रदेश योजना 2021
आधिकारिक वेबसाइट https://mksy.up.gov.in

कन्या सुमंगला योजना की 6 श्रेणियाँ

  • श्रेणी 1: उत्तर प्रदेश की लड़की जिसका जन्म 1 अप्रैल 2019 को या उसके बाद हुआ है, उसे 2000 रुपये की वित्तीय सहायता मिलेगी।
  • श्रेणी 2- इसके बाद अगर लड़की को 1 साल के भीतर टीका लग गया है और 1 अप्रैल 2018 से पहले जन्म नहीं हुआ है तो उसे 1000 रुपये की राशि दी जाएगी.
  • श्रेणी 3- इसमें वर्तमान शैक्षणिक सत्र में कक्षा 1 में प्रवेश करने वाली बालिका को सरकार की ओर से 2000 रुपये मिलेंगे।
  • श्रेणी 4- इसमें वर्तमान शैक्षणिक सत्र के दौरान कक्षा 6 में प्रवेश लेने वाली बालिका को एक लाख रुपये की राशि का लाभ होगा। 2000.
  • श्रेणी 5- वर्तमान शैक्षणिक सत्र के दौरान कक्षा 9 में प्रवेश करने वाली लड़कियों को शामिल किया जाएगा, उन्हें 3000 रुपये की राशि दी जाएगी। कैटेगरी 6 इस कैटेगरी में ग्रेजुएशन/डिग्री या कम से कम डिप्लोमा के लिए एडमिशन लेने वाली लड़की को 10/12 पास करने के बाद उन्हें रुपये की आर्थिक मदद दी जाएगी

Kanya Sumangala Yojana किश्त की धनराशि

  • कन्या के जन्म होने पर: 2000 रूपये
  • टीकाकरण होने पर: 1000 रूपये
  • कक्षा 1 में प्रवेश करने के बाद : 2000 रूपये
  • कन्या के कक्षा 6 में प्रवेश करने के बाद : 2000 रूपये
  • कन्या के कक्षा 9 में प्रवेश करने के बाद : 3000 रूपये
  • कन्या के 10 वी तथा 12 वी उत्तीर्ण करने के बाद स्नातक /डिग्री या कम से कम डिप्लोमा में प्रवेश के बाद : 5000 रूपये

आवश्यक दस्तावेज

  • आवेदक यूपी का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • पहचान कार्ड
  • वेतन प्रमाण पत्र
  • लड़की का जन्म प्रमाण पत्र
  • पते का सत्यापन
  • मोबाइल फोन नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

पात्रता

  1. लाभार्थी का परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिए और उसके पास स्थायी निवास का प्रमाण पत्र होना चाहिए, जिसमें राशन कार्ड/आधार कार्ड/मतदाता पहचान पत्र/बिजली/टेलीफोन बिल मान्य होगा।
  2. लाभार्थी की वार्षिक पारिवारिक आय अधिकतम रु. 3.00 लाख होनी चाहिए।
  3. एक परिवार की केवल दो लड़कियां ही योजना का लाभ उठा सकेंगी।
  4. परिवार में अधिकतम दो बच्चे होने चाहिए।
  5. यदि किसी महिला के दूसरे जन्म से जुड़वां बच्चे हैं, तो लड़की को तीसरे बच्चे के रूप में भी लाभ मिलेगा। यदि किसी महिला के पहले जन्म से लड़की है और दूसरे जन्म से केवल दो जुड़वां लड़कियां हैं, तो ऐसी स्थिति में ही तीनों लड़कियों को लाभ मिलेगा।
  6. यदि किसी परिवार ने अनाथ लड़की को गोद लिया है तो परिवार के जैविक बच्चों और कानूनी रूप से गोद लिए गए बच्चों सहित अधिकतम दो लड़कियां इस योजना की लाभार्थी होंगी।

कन्या सुमंगला योजना रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

UP MKSY Kanya Sumangla Yojana Apply Online

राज्य के वे लोग जो ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो उन्हें नीचे दी गई विस्तृत विधि का पालन करना होगा:

पहला स्टेप : सबसे पहले आवेदक को महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक MukhyaMantri Kanya Sumangla Yojana (MKSY) वेबसाइट पर जाना होगा।

दूसरा स्टेप : आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा। इस होम पेज पर आपको सिटीजन सर्विस पोर्टल का विकल्प दिखाई देगा, इस विकल्प पर क्लिक करें।

तीसरा स्टेप : विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा, इस पेज पर आपको सहमति का विकल्प दिखाई देगा। इस विकल्प में, कारण के रूप में मैं सहमत हूं चिह्नित किया जाएगा और आपको जारी रखें पर क्लिक करना होगा।

चौथा स्टेप : पंजीकरण फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी जैसे नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर और ओटीपी को सत्यापित करना होगा। वेरिफिकेशन के बाद आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। सफल पंजीकरण के बाद आपके मोबाइल फोन पर यूजर आईडी प्राप्त हो जाएगी। आपको इस यूजर आईडी से लॉग इन करना होगा।

पांचवा स्टेप : फिर आपको यूजर आईडी और पासवर्ड डालकर लॉग इन करना होगा। इसके बाद आपको गर्ल्स रजिस्ट्रेशन फॉर्म दिखाई देगा।

छटवां स्टेप : इस फॉर्म में मांगी गई जानकारी को सही ढंग से भरें और अपने सभी दस्तावेज अपलोड करें और सबमिट बटन पर क्लिक करें। इस तरह आपका आवेदन पूरा हो जाएगा और आपकी बेटी इस एमकेएसवाई के लिए पात्र हो जाएगी।

MukhyaMantri Kanya Sumangla Yojana (MKSY) के तहत एक परिवार की दो बच्चों वाली केवल दो बेटियों को ही योजना का लाभ दिया जाएगा। पहली बेटी के बाद जुड़वां बेटी होने पर तीनों को योजना का लाभ दिया जाएगा।

UP MKSY Kanya Sumangla Yojana ऑफलाइन अप्लाई

योजना में जनोपयोगी केंद्र/सीएससी केंद्र से वेबसाइट www.mksy.up.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। जो ऐसा नहीं कर सकते हैं वे अपना फॉर्म भरकर कार्यालय प्रखंड विकास अधिकारी, एसडीएम, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी के पास जमा कर सकते हैं |

Leave a Comment

error: Content is protected !!