उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना : आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन, उद्देश्य, पात्रता, फायदा । UP Kanya Sumangala Yojana

Sharing Is Caring:

हेलो दोस्तों आज हम आप लोगों को उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के बारे में बतायेंगे, यदि आप उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के तहत लाभ उठाना चाहते हैं और जानना चाहते हैं की, उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना क्या है, इसका उद्देश्य क्या है, उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना की क्या पात्रता रखी गई है और इस योजन से क्या फायदा है और इसमें क्या क्या दस्तावेज लगेगा और उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना को आवेदन कैसे करें सारी जानकारी हम आप लोगों को बताएंगे तो चलिए अब जान लेते हैं ।

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना क्या है ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के तहत सरकार बेटी के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक सारा खर्चा वो देती है और इस योजना के तहत एक परिवार की अधिकतम दो बेटियां ही इस योजना का लाभ ले सकती हैं । इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों का भविष्य बनाना है और समाज को बेटियों का बोझ ना लगे और लोगों की सोच को बदलना है । राज्य में बहुत से ऐसे परिवार हैं जिनकी आर्थिक स्थिति बहुत खराब है और वो अपनी बेटियों को पढ़ा नही पाते हैं । ऐसे लोगों के लिए यह योजना बहुत ही फायदेमंद होगी । उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के तहत सरकार कुल 15 हजार रुपये की आर्थिक मदद के रूप में देती है और यह राशि 6 किस्तों में दी जाती है । राज्य सरकार ने इस योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये का कुल बजट रखा है और जो उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के तहत आवेदन कर रहा है उसके परिवार की सालभर की कमाई 3 लाख रुपये से अधिक नही होनी चाहिये ।

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना : आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन, उद्देश्य, पात्रता, फायदा

* योजना के तहत सरकार बेटी के जन्म से लेकर उसकी पढ़ाई तक सारा खर्चा वो देती है.
* योजना के तहत एक परिवार की अधिकतम दो बेटियां ही इस योजना का लाभ ले सकती हैं.
* योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों का भविष्य बनाना है और समाज को बेटियों का बोझ ना लगे और लोगों की सोच को बदलना है.
* योजना के तहत सरकार कुल 15 हजार रुपये की आर्थिक मदद के रूप में देती है और यह राशि 6 किस्तों में दी जाती है.
* योजना के लिए 1200 करोड़ रुपये का कुल बजट रखा है.
* योजना के तहत लाभ लेने के लिए आवेदक के परिवार की सालभर की कमाई 3 लाख रुपये से अधिक नही होनी चाहिये.

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना का क्या उद्देश्य है ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करना है और वे परिवार जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं जो अपनी बेटियों को पढ़ा नही पाते उसका खर्च उठा नही पाते जिसके कारण उन्हें बेटियां बोझ लगने लगती हैं । इसलिए सरकार ने इन बेटियों को 15 हजार रुपये की आर्थिक मदद दे रही है । बेटियों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए सरकार इस योजना के तहत बेटी के जन्म से लेकर पढ़ाई तक सारा खर्चा उठाती है और केंद्र सरकार का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारा को सहकार करना है । यही इस योजना का मुख्य उद्देश्य है ।

* योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की बेटियों के भविष्य को सुरक्षित करना है.
* सरकार ने इन बेटियों को 15 हजार रुपये की आर्थिक मदद दे रही है, बेटियों की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए सरकार इस योजना के तहत बेटी के जन्म से लेकर पढ़ाई तक सारा खर्चा उठाती है.

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना से क्या फायदा है ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना की फायदा की बात करें तो इस योजना के तहत सरकार 15 हजार रुपये की आर्थिक मदद बेटी को देती है और राज्य में महिला सदस्य को बढ़ावा मिलेगा । उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के तहत एक परिवार के दो बेटियों को लाभ मिलेगा अगर किसी को तीसरी संतान होती है और वह लडक़ी है तो वे इस योजना के अंतर्गत लाभ नही ले सकती है अगर पहली संतान से दो लड़कियां जुड़वा होती हैं तो तीसरी संतान को इस योजना का लाभ मिलेगा । इस योजना से मिलने वाली राशि सीधे लाभर्ती के बैंक खाते में ट्रांसफर की जायेगी इसलिए लाभर्ती के पास बैंक खाता होना चाहिए जो आधार से लिंक हो ।

* योजना के तहत सरकार 15 हजार रुपये की आर्थिक मदद बेटी को देती है और राज्य में महिला सदस्य को बढ़ावा मिलेगा.
* योजना के तहत एक परिवार के दो बेटियों को लाभ मिलेगा अगर किसी को तीसरी संतान होती है और वह लडक़ी है तो वे इस योजना के अंतर्गत लाभ नही ले सकती है.
* अगर पहली संतान से दो लड़कियां जुड़वा होती हैं तो तीसरी संतान को इस योजना का लाभ मिलेगा.
* योजना से मिलने वाली राशि सीधे लाभर्ती के बैंक खाते में ट्रांसफर की जायेगी.

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना की क्या पात्रता रखी गई है ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना की पात्रताओं की बात करें तो आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी मूल निवासी होना चाहिए और जिस व्यक्ति के लिए आप आवेदन कर रहे हैं उसके परिवार की सालाना कमाई 3 लाख रुपये से अधिक नही होनी चाहिए । उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना के तहत एक परिवार के दो बेटियां इस योजना की पात्र होंगी अगर किसी को तीसरी संतान होती है और वह लडक़ी है तो वे इस योजना के पात्र नही होगी अगर पहली संतान से दो लड़कियां जुड़वा होती हैं तो तीसरी संतान को इस योजना का लाभ मिलेगा । अगर अपने कोई अनाथ बच्ची को गोद लिया है तो परिवार में इस बच्ची को मिलाकर दो बच्ची को ही इस योजना का पात्र माना जायेगा ।

* आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी मूल निवासी होना चाहिए.
* आवेदक की परिवार की सालाना कमाई 3 लाख रुपये से अधिक नही होनी चाहिए.
* योजना के तहत एक परिवार के दो बेटियां इस योजना की पात्र होंगी अगर किसी को तीसरी संतान होती है और वह लडक़ी है तो वे इस योजना के पात्र नही होगी.
* अगर अपने कोई अनाथ बच्ची को गोद लिया है तो परिवार में इस बच्ची को मिलाकर दो बच्ची को ही इस योजना का पात्र होंगे.

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना आवेदन के लिए क्या क्या दस्तावेज लगेगा ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना की दस्तावेजों की बात करें तो इसमें माता पिता का आधार कार्ड, राशन कार्ड, आय प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, बैंक पासबुक, पासपोर्ट साइज फ़ोटो और अगर आपने बेटी गोद लिया है तो गोद लेने का प्रमाण पत्र होना चाहिए । तो ये सभी दस्तावेज है जो आपके पास होने चाहिए तभी आप इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं ।

* माता पिता का आधार कार्ड.
* राशन कार्ड.
* आय प्रमाण पत्र.
* मोबाइल नंबर.
* बैंक पासबुक.
* पासपोर्ट साइज फ़ोटो.
* अगर आपने बेटी गोद लिया है तो गोद लेने का प्रमाण पत्र.

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना का ऑनलाइन आवेदन करने का तरीका ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना को अगर आप आवेदन करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको इस योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा उसके बाद आपके सामने होम पृष्टि खुलकर आयेगा । उसके बाद इस होम पृष्टि पर आपको Citizen Service Portal का ऑप्शन दिखाई देगा उसपर आपको क्लिक करना है । अब आपके सामने एक नया पृष्टि खुलकर आयेगा इस पृष्टि पर आपको सहमति का ऑप्शन दिखाई पड़ेगा । अब यहाँ पर आपको ‘मै सहमत हूँ’ पर टिक कारण होगा और ‘जारी रखे’ पर क्लिक करें, उसके बाद आप अगला पृष्टि खुलकर आयेगा यहाँ पर आपको आवेदन फॉर्म मिल जायेगा । अब आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी को भरना होगा जैसे नाम ,आधार नंबर ,मोबाइल नंबर और OTP डालकर सत्यापित करना होगा, सत्यापित होने के बाद आपका रजिस्ट्रेशन हो जायेगा । आवेदन पूरा होने के बाद आपके मोबाइल पर यूज़र आईडी प्राप्त होगी इस यूज़र आईडी के आपको लॉगिन करना पड़ेगा ।

अब आपको यहाँ पर यूज़र आईडी और पासवर्ड डालकर लॉगिन करना होगा इसके बाद आपको लड़की का आवेदन फॉर्म दिखाई देगा ।

उसके बाद इस फॉर्म में पूछी गयी जानकरी को अच्छे से सही सही भरना होगा और सभी दस्तावेज़ों को अपलोड कर देना है उसके बाद सब्मिट के बटन पर क्लिक कर देना है । इस तरीके से आप उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना का आवेदन कर पायेंगे ।

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना ऑफलाइन आवेदन करने का तरीका ?

उत्तर प्रदेश सुमंगला योजना ऑफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आवेदक को इस योजना से सम्बन्धित कार्यालय में जाना होगा उसके बाद वहाँ आपको कन्या सुमंगला योजना आवेदन फॉर्म मिलेगा । अब आपको फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारियों को अच्छे से सही सही भरना होगा । उसके बाद सभी जानकारियों को भरने के बाद सम्बन्धित दस्तावेजों को फॉर्म के साथ जोड़ना होगा उसके बाद पुरे फॉर्म को अच्छे से चेक करके उसी कार्यालय में जमा कर दें जहां से अपने फॉर्म प्राप्त किया था अब आपकी ऑफलाइन आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाती है । आवेदन के कुछ दिन बाद आपको आपके बैंक खाते के जरिये से लाभ राशि दे दी जायेगी ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!